एनटीटी और आंगनबाड़ी वर्करों को मिलेगा प्री प्राइमरी शिक्षक बनने का अवसर हिमाचल

Spread the love

18 जुलाई 2021 अमर उजाला अखबार की आधिकारिक वेबसाइट पर छापी गयी ख़बर के मुताबिक। नर्सरी टीचर ट्रेनिंग करने वालों के साथ आंगनबाड़ी वर्करों को भी मिलेगा प्री प्राइमरी शिक्षक बनने का मौका। नर्सरी और केजी कक्षा के लिए शिक्षक भर्ती के लिए विभाग के अधिकारी आरएंडपी नियम बनाने में जुट गए हैं। प्री प्राइमरी स्कूलों में चार हजार से अधिक शिक्षकों की भर्ती के लिए केंद्र सरकार की अंतिम मंजूरी मिलने का इंतजार है।

अप्रैल में प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने प्री प्राइमरी स्कूलों में शिक्षक भर्ती के लिए नर्सरी टीचर ट्रेनिंग (NTT) अनिवार्य करने का प्रस्ताव भेजा था। NTT कर चुकीं महिलाएं काफी समय से इन स्कूलों में नियुक्ति देने की मांग कर रही हैं इसलिए इन्हें इसमें अनिवार्यता दी गयी थी। परंतु आंगनबाड़ी वर्कर भी नियुक्ति की मांग को लेकर संघर्षरत हो गयी है जब से उन्होंने इस बात का पता चला था। ऐसे में सरकार ने विभागीय अधिकारियों पर मामले पर दोबारा विचार करने के लिए कहा था।

अब नए सिरे से बन रहे प्रस्ताव में नर्सरी टीचर ट्रेनिंग करने वालों के साथ आंगनबाड़ी वर्करों को भी भर्ती में शामिल किया जा रहा है। कितने पद किस श्रेणी के लिए दिए जाएंगे, इसको लेकर मंथन जारी है। मंत्रिमंडल की बैठक में भी यह प्रस्ताव लाया जाना है। विभागीय अधिकारियों की ओर से तैयार प्रस्ताव में दस विद्यार्थियों से अधिक संख्या वाले स्कूलों में शिक्षक भर्ती करने, शिक्षकों के लिए आयु सीमा 18 से 45 वर्ष तय करने की सिफारिश भी की गई है।

अमर उजाला अखबार की आधिकारिक वेबसाइट पर आर्टिकल और ख़बर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Leave a Comment